Indian Railway main logo Welcome to Indian Railways
View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

परियोजना और अहवाल

निविदा सूचना

समाचार और सूचना

सूचना का अधिकार

हमसे संपर्क करें

एमयूटीपी I
MUTP II
MUTP III
स्टेशनॊ का ट्रेसपासिंग पर अध्ययन
स्टेशनॊ के बीच ट्रेसपासिंग पर अध्ययन
TISS द्वारा लिंग अध्ययन रिर्पोट
Procedure order for recording of measurement test check & payment for works contract.
वार्षिक अहवाल
आय वृद्धि अध्ययन की रिर्पोट
अधिप्राप्ति (फेज 2A)
तकनीकी सहायता अध्ययन ( फेज-2A )
ऋण पर परियोजना मूल्यांकन दस्ताऐवज
मुंबई उपनगरीय रेल यात्री सर्वेक्षण एवं विश्लेषण
विरार-वसई-पनवेल के बीच अतिरिक्त उपनगरीय लाईन की सर्वेक्षण रिर्पोट
प्रस्तावित विरार-डहानु रोड चौहरीकरण पर सर्वेक्षण रिर्पोट
लोक परामर्श के लिए संक्षिप्त: विरार-डहानु रोड खंड क़े चौहरीकरण की परियोजना के लिए कार्यकारी सारांश
पनवेल-कर्जत दोहरीकरण
लोक परामर्श के लिए संक्षिप्त: पनवेल-कर्जत खंड पर डबल लाइन कॉरीडोर की परियोजना के लिए कार्यकारी सारांश और सामाजिक प्रभाव सारांश
ऐरोली-कलवा खंड की पूर्व व्यवहार्यता रिर्पोट
मध्य रेल्वे व पश्चिम रेल्वे पर मौजुदा कारशेड व कारखानों पर पर्यावरण द्रुष्टि की अध्ययन रिर्पोट
मे. बंबार्डियर इलेक्ट्रिक्स सहित एमयुटिपी फेज-II ईएमयु रेक्स पर यात्री सर्वेक्षण
पुने और लोनवला के बीच तिहरीकरण के निर्माण हेतु विस्तृत परियोजना रिर्पोट
छ.शि.ट.-पनवेल द्रुतगामी गलियारे का कार्यकारी सारांश
बांद्रा-विरार उन्नत गलियारे का कार्यकारी सारांश
पुना-लोनावला ३री ४थी लाईन्स का कार्यकारी सारांश


Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS

परियोजनाएं
एमयूटीपी के उद्देश्य
9 डिब्बों वाली ट्रेन में मौजूदा स्थिति में प्रति ट्रेन 5000 यात्री यात्रा करते हैं इस संख्या को 3000  तक नीचे लाना .
मुख्य लाइन यात्री और माल ढुलाई सेवाओं से लोकल ट्रेन  के संचालन को अलग करना 
 
एमयूटीपी फेज – I  ( रेल घटक)
5वीं और 6छ्ठी  लाइन, कुर्ला - ठाणे
मध्य रेलवे  का ऑप्टीमाईजेशन
हार्बर लाइन  का ऑप्टीमाईजेशन
5 वीं लाइन माहीम - सांताक्रुज
बोरीवली - विरार खंड  चौहरीकरण
पश्चिम रेलवे  का ऑप्टीमाईजेशन
डीसी-एसी  परिवर्तन
ईएमयू खरीद और निर्माण
ईएमयू के लिए  स्टेबलिंग लाइने
ईएमयू के लिए रखरखाव की सुविधा
विरार कारशेड
ट्रैक मशीनें
संस्थागत सुदृढ़ीकरण और  अध्ययन
पुनर्वसन और पुन:स्थापन
 
एमयूटीपी फेज – I में  इंफ्रास्ट्रक्चरल निवेश
93 ट्रैक किलोमीटर की  वृध्दि - आधार आंकड़ा 790 किलोमीटर [ लूप लाइन और  यार्ड को छोड़कर ] ( ठाणे  तुर्भे- वाशी खंड में 34 किलोमीटर और एमयूटीपी के तहत विरार - बोरीवली खंड में 53 किलोमीटर की दूरी के बाद जोड़ा गया है )
दोहरी वोल्टेजके 9 कार  वाले 101 (अतिरिक्त खाते पर 51 और रूपांतरण खाते पर 50 ) नए रेक  का समावेश ।
15,000 परियोजना प्रभावित परिवारों का  पुनर्वसन और पुन:स्थापन  ।
प्लेटफार्मो की लंबाई बढ़ाकर, सभी लाइनों ( हार्बर लाइन को छोड़कर ) पर 12 कार रेक  चलाना ।
सभी लाइनों पर 3 मिनट  हेड-वे हासिल करना ( सिग्नलिंग की री-स्पेसिंग की जानी है )  
ठाणे - सीएसटीएमखंड को छोड़कर सभी उपनगरीय खंडों में डीसी - एसी  परिवर्तन  ( द्वितीय चरण में लिया जा सकता है) .
 
एमयूटीपी चरण - I के लाभ
550 नई गाड़ियां, प्रति दिन कुल ट्रेनों में 25 % की वृद्धि ।
तेज लाइन पर, सभी ट्रेने 12 कारों की हो जाएंगी, धीमी लाइन पर 20% ट्रेने 12 कारों की हो जाएंगी ।
दिन प्रति वाहन कि.मी. की दूरी  में 33 % की वृद्धि होगी .
“पीक घंटे” में पीक दिशा दौरान, 9 कार रेक में प्रति गाड़ी संख्या 5000 यात्री से घटकर 3600 यात्री हो जाएगी, ।
 
एमयूटीपी फेज – II
5वीं और 6ठी लाइन सीएसटीएम - कुर्ला
5वीं और 6ठी लाइन ठाणे - दिवा
6ठी लाइन बोरीवली - मुंबई सेंट्रल
अंधेरी से गोरेगांव के लिए हार्बर लाइन का विस्तार
एसी - डीसी  परिवर्तन (सीएसटीएम - ठाणे सेक्शन)
स्टेशन सुधार और अतिक्रमण नियंत्रण योजना .
पुनर्स्थापन एवं पुनर्वास .
ईएमयू खरीद और निर्माण .
ईएमयू के लिए रखरखाव की सुविधा .
ईएमयू के लिए स्टेबलिंग लाइने
तकनीकी सहायता और संस्थागत सुदृढ़ीकरण .
 
एमयूटीपी फेज – II, में  इन्फ्रास्ट्र्क्चरल निवेश
 .88 ट्रैक किलोमीटर की  वृध्दि - मौजूदा 790 किलोमीटर दूरी में और 93 किलोमीटर की दूरी को एमयूटीपी  फ्वेज -1. में जोड़ा जा रहा है
.96 नए 9 कार रेक .
.ठाणे  - सीएसटीएम खंड ( 172 ट्रैक किमी) में डीसी-एसी रूपांतरण के साथ, मुंबई उपनगरीय प्रणाली पर डीसी एसी रूपांतरण पूरा.
.परियोजना प्रभावित 3000परिवारों का पुनर्वसन और पुन:-स्थापन ।.
 
एमयूटीपी फेज-II 2 के लाभ
मुख्य लाइन यात्री और माल ढुलाई सेवाओं से लोकल ट्रेन के संचालन को अलग  किया जाएगा .
उपनगरीय लाइनों पर चलने वाली सभी ट्रेने 12 कार की होगी .
800 नई  ट्रेने- एमयूटीपी फेज - 1 की तुलना में  30% की वृद्धि  ।
एमयूटीपी  फेज - 1  के पूरा होने पर 9डिब्बों वाली  प्रति ट्रेन में यात्रियों की मौजूदा 5000और 3600संख्या की तुलना में प्रति ट्रेन यात्रियों की संख्या 3000-तक नीचे लाना ।   



Source : मुंबई रेलवे विकास कॉर्पोरेशन:: CMS Team Last Reviewed on: 21-02-2014  

  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.